उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में अतीक अहमद और उसके भाई अशरफ की हत्या के बाद केंद्र सरकार अलर्ट मोड में है. पुलिस कस्टडी के बीच अतीक अहमद पर हमला करने वाले तीनों युवक मीडियाकर्मी बनकर भीड़ में शामिल हुए थे.ऐसे में अब पत्रकारों की सुरक्षा के लिए गृह मंत्रालय एसओपी तैयार करेगा. पत्रकारों को सुरक्षा देने के लिए ये कदम उठाया जा रहा है.(safety of journalists on)

Read more:सिवनी-छिंदवाड़ा होते हुए 24 अप्रैल से चलेगी रीवा-इतवारी एक्सप्रेस, रेलवे बोर्ड से मिली हरी झंडी

 

सूत्रों का कहना है कि, गृह मंत्रालय (MHA) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के मार्गदर्शन में पत्रकारों की सुरक्षा के लिए मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) तैयार करने वाला है. मीडिया से बातचीत के दौरान पत्रकार बनकर आए तीन लोगों ने दोनों भाइयों की उस वक्त गोली मार कर हत्या कर दी थी, जब पुलिसकर्मी उन्हें जांच के लिए यहां एक मेडिकल कॉलेज ले जा रहे थे.(safety of journalists on)

 

Read more:ब्रेकिंग न्यूज़ : आतीक और अशरफ की गोली मारकर हत्या,टेलीविजन चैनलों पर लाइव फायरिंग फुटेज, हमलावरों ने किया सरेंडर

 

पूछताछ में क्या बोले आरोपी 

एफआईआर (FIR) के अनुसार, आरोपियों ने कहा कि वह लोग अतीक-अशरफ गैंग का सफाया करना चाहते थे, जिससे प्रदेश में उनका नाम होता. वह लोग पुलिस के घेरे का अनुमान नहीं लगा पाए और पुलिस की तेज कारवाई से पकड़े गए. वह अतीक और अशरण को कई दिनों से मारने की फिराक में थे, लेकिन सही समय या मौका नहीं मिला पा रहा था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *