राजनांदगांव जिले के वनबघेरा गांव की महिलाएं पनकाज मछली का आचार बनाकर अच्छा मुनाफा कमा रही हैं। महिलाएं वनबघेरा की जय बूढ़ा देव समूह से जुड़ी हुई हैं। मछली के आचार की डिमांड बढ़ने से महिलाओं को रोजगार तो मिला ही साथ ही ये अच्छी आय का जरिया भी बन गया है।गांव की सरिता मंडावी केन्हें पंचायत के अधिकारियों ने कहा कि आचार तो सभी बनाते हैं कुछ नया बनाओ। तो हमने कहा कि आम के अलावा लहसुन का भी आचार बनाते हैं। सरिता ने बताया कि यहां लोग मछली के शौकीन हैं। फिर क्या था महिलाओं ने यहां प्रचलित पनकाज मछली का आचार बनाया जो लोगों को काफी पसंद आया।(Women of Chhattishgarh made)

Women of Chhattishgarh made
छत्तीशगढ़ की महिलाओ ने बनाया मछली का अचार,लोगो मिला नया टेस्ट

 

 

READ MORE:भानुप्रतापपुर से ब्रह्मानंद नेताम बने बीजेपी प्रत्याशी,आदिवासी समाज में है इनकी अच्छी पकड़

 

 

सरिता मंडावी के साथ समूह से जुड़ी महिलाओं ने पनकाज मछली का आचार बनाया और एक दिन गौठान मेला में उसे रखा गया। यह 5 हजार रुपए का बिका, फिर लगा कि इसमें तो बड़ी संभावना है। महिलाओं ने इसका उत्पादन शुरू किया।
सरिता ने बताया कि एक किलो मछली अचार की कीमत 50 रुपए है। ट्रेनिंग में बताया गया कि अलग सा उत्पाद बनाओ, हमने ये किया, औरहमें सफलता मिली। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार आउट ऑफ बॉक्स आईडियाज को बढ़ावा दे रही है और मैनेजमेंट फंडा अब ग्रामीण क्षेत्रों के समूहों तक भी पहुंच रहे हैं।(Women of Chhatishgarh made)

 

 

 

READ MORE:राजधानी रायपुर के VIP चौराहे पर कुछ लड़कियों ने मिलकर किया जमकर हंगामा,वायरल हुआ वीडियो

 

 

 

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार में ग्रामीण क्षेत्रों की हुनरमंद महिलाओं की प्रतिभा को पंख मिल गए हैं। वे ऐसे क्षेत्रों में काम कर रही हैं और ऐसे उत्पादों के बारे में सोच रही हैं जो प्रचलित नहीं हैं लेकिन बाजार के दृष्टिकोण से उनमें बड़ी संभावनाएं हैं।(Women of Chhattishgarh made)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ताज़ा खबरें