रायपुर 13 अप्रैल 2023 – जाने-माने उद्योगपति श्री नवीन जिन्दल के नेतृत्व वाली कंपनी जिन्दल स्टील एंड पावर (जेएसपी) “आत्मनिर्भर भारत” के निर्माण में निरंतर योगदान करने के अपने प्रयासों के तहत ओडिशा स्थित अपने अंगुल स्टील परिसर में 1.2 एमटीपीए की रेल और हेवी स्ट्रक्चर मिल लगाएगी। अंगुल में नई रेल मिल चालू होने के बाद जेएसपी की कुल रेल निर्माण क्षमता 2.2 एमटीपीए हो जाएगी।(JSP Heavy structure mill)

 

 

 

 

छत्तीसगढ़ स्थित रायगढ़ स्टील प्लांट में 1 एमटीपीए (प्रतिवर्ष 10 लाख टन) क्षमता की रेल मिल से जेएसपी ने 1175 एचटी, आर 350 एचटी, एसिमेट्रिक रेल और खासकर मेट्रो-मोनो ट्रेन जैसी तेज गति की गाड़ियों के लिए 1080 एचएच रेल भी विकसित की है। जेएसपी की इस पहल से राष्ट्र गर्वान्वित हुआ है क्योंकि ये उत्पाद आयात के विकल्प हैं और 25 एमटी से अधिक के भारी-भरकम एक्सेल लोड के लिए आवश्यक भी हैं। इससे आत्मनिर्भर भारत के निर्माण में हम एक कदम आगे बढ़े हैं। इन रेलों का उपयोग मुख्य रूप से मेट्रो, बुलेट ट्रेन समेत तेज गति से चलने वाली ट्रेनों के सुचारु संचालन में किया जाता है।(JSP Heavy structure mill)

 

 

 

 

रायगढ़ रेल मिल नियमित रूप से भारतीय रेलवे, डीएफसीसी और राष्ट्रीय महत्व की अन्य महत्वपूर्ण परियोजनाओं को 260 मीटर रेल की आपूर्ति कर रही है। न्यूनतम वेल्डिंग वाली ऐसी लंबी रेलें ट्रैक सुरक्षा और आरामदायक यात्रा प्रदान करने में उपयोगी हैं।(JSP Heavy structure mill)

 

 

 

 

जेएसपी की 1080 एचएच ग्रेड की खास रेल का उपयोग देश की लगभग सभी मेट्रो और आरआरटीएस सिस्टम में किया जा रहा है। इसी तरह दुर्गम क्षेत्रों में नागरिक आवागमन और सैन्य महत्व की परियोजनाओं में भी इस रेल का उपयोग किया जा रहा है। इसके सबसे बड़े उदाहरण हैं जम्मू-कश्मीर की यूएसबीआरएल और पश्चिम बंगाल की सिवोक-रंगपो परियोजनाएं।

 

 

 

 

प्रबंध निदेशक श्री बिमलेन्द्र झा ने नई रेल मिल परियोजना के संदर्भ में कहा कि “जेएसपी प्रतिस्पर्धी कीमतों पर आयात के विकल्प के रूप में घरेलू उत्पाद उपलब्ध कराकर आत्मनिर्भर भारत के निर्माण में एक समर्पित भागीदार है और सरकार की गतिशक्ति योजना जैसी उल्लेखनीय पहल का समर्थन करने के लिए प्रतिबद्ध है। जेएसपी भारतीय रेल नेटवर्क के आधुनिकीकरण में सहयोग प्रदान करने के उद्देश्य से अपनी रेल निर्माण क्षमता बढ़ा रहा है। हमारी दूरगामी सोच है कि यदि भारत में रेल उत्पादन क्षमता अधिक हो जाए तो हम देश के साथ-साथ विदेश में भी रेल की मांग पूरी करने के लिए तत्पर हैं।”

 

 

 

 

उन्होंने कहा कि भारतीय रेल इन्फ्रास्ट्रक्चर के निर्माण में निरंतर सहयोग प्रदान करने के उद्देश्य से जेएसपी ने सफलतापूर्वक 60ई1 1175 हीट ट्रीटेड रेल भी तैयार कर ली है, जो तेज गति और उच्च एक्सल लोड के लिए उपयुक्त है। भारतीय रेलवे ने 25 एमटी से अधिक एक्सल लोड और 200 किलोमीटर प्रति घंटा की गति के लायक भारतीय रेलवे ट्रैक सिस्टम को अपग्रेड करना शुरू कर दिया है।

 

 

 

 

जेएसपी भारत में निर्मित इन रेलों का निर्यात अनेक देशों को भी कर रहा है। इनमें यूरोपीय रेलवेज भी शामिल है। इस तरह जेएसपी विश्व स्तरीय रेल उत्पादक के रूप में तेजी से स्थापित होता जा रहा है।

 

 

 

 

जिन्दल स्टील एंड पावर के बारे में

जिन्दल स्टील एंड पावर स्टील, बिजली, खनन और बुनियादी ढांचा क्षेत्र की अग्रणी भारतीय कंपनियों में से एक है। दुनिया भर में 12 अरब अमेरिकी डॉलर निवेश के साथ कंपनी आत्मनिर्भर भारत के निर्माण में योगदान करने के उद्देश्य से अपनी क्षमता और दक्षता को निरंतर बढ़ा रही है।

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *