हिंदुओं के सबसे बड़े धर्मगुरु और द्वारका एवं शारदा पीठ के शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद का आज निधन हो गया है। 99 साल की उम्र में स्वामी स्वरूपानंद ने रविवार को आखिरी सांस ली। उनका निधन मध्य प्रदेश के नरसिंहपुर जिले में स्थित गोटेगांव के पास बने झोतेश्वर धाम में हुआ है। हाल ही में उनका जन्मदिवस मनाया गया था। इस पर राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ, जो उनके अन्य भक्त माने जाते हैं उन्होंने जाकर उन्हें बधाई दी और उनका आशीर्वाद लिया था(Shankaracharya Swaroop died at 99 years)

 

 

 

 

 

Read more:जेपी नड्डा की रैली में चोरी हुए भाजपाइयों के फोन,दिल्ली से आए थे हाई प्रोफाइल गिरोह,दिल्ली क्राइम ब्रांच ने किया गिरफ्तार

 

 

 

 

 

कई दिनों से बीमार चल रहे थे 

शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद के पास बद्री आश्रम और द्वारकापीठ की जिम्मेदारी थी। उनका जब निधन हुआ तब वह अपने आश्रम में ही थे। बताया जाता है कि स्वामी स्वरूपानंद पिछले कई दिनों से बीमार चल रहे थे। उनका नरसिंहपुर जिले में स्थित झोतेश्वर आश्रम में ही इलाज चल रहा था। आज दोपहर बाद अपने आश्रम में उन्होंने अंतिम सांस ली। स्वरूपानंद के आखिरी समय में आश्रम में रहने वाले उनके शिष्य उनके पास थे।(Shankaracharya Swaroop died at 99 years)

 

 

 

 

 

Read more:बस्तर में मूसलाधार बारिश ने बरसाया कहर,भारी बारिश की वजह से पानी में डुबे 6 जिले

 

 

 

कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर जताया शोक

मध्य प्रदेश से सिवनी जिले में जन्मे स्वरूपानंद सरस्वती 1982 में गुजरात में द्वारका, शारदा पीठ और बद्रीनाथ में ज्योतिर मठ के शंकराचार्य बने थे। उनके निधन पर कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने शोक प्रकट किया है। प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर लिखा- ‘जगतगुरु शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती जी महाराज के महाप्रयाण का समाचार सुनकर मन को भारी दुख पहुंचा। स्वामी जी ने धर्म, अध्यात्म व परमार्थ के लिए अपना पूरा जीवन समर्पित कर दिया।(Shankaracharya Swaroop died at 99 years)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ताज़ा खबरें